क्या अब कोरोना पालतू जानवरों को भी अपनी जद में लेने लगा है? जवाब है हां, अमेरिका में दो पालतू बिल्लियों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। लेकिन इससे इंसानों को डरने की जरूरत है? क्या जानवरों से इंसानों में भी संक्रमण फैलने का खतरा है? लेकिन पहले जानें कि आखिर यह सवाल उठा ही क्यों है। दरअसल, यूएस सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) और यूनाइटेड स्टेट्स डिपार्टमेंट ऑफ एग्रीकल्चर (यूएसडीए) नेशनल वेटरनरी सर्विसेज लैबोरेट्रीज (एनवीएसएल) ने SARS-CoV-2 संक्रमण का दो पालतू बिल्लियों में पुष्टि की। कोविड 19 का पालतू जानवरों में संक्रमण का यह पहला मामला सामने आया है।

http://www.openvoice.in/2020/04/18/hiv-%e0%a4%96%e0%a5%8b%e0%a4%9c%e0%a4%a8%e0%a5%87-%e0%a4%b5%e0%a4%be%e0%a4%b2%e0%a5%87-%e0%a4%b5%e0%a5%88%e0%a4%9c%e0%a5%8d%e0%a4%9e%e0%a4%be%e0%a4%a8%e0%a4%bf%e0%a4%95-%e0%a4%a8%e0%a5%87-%e0%a4%95/
source- google



इन 9 तरीकों से, covid-19 संक्रमण से बचें

ये बिल्लियां न्यूयार्क राज्य के दो अलग क्षेत्रों में रहती है। दोनों को सांस की बीमारी थी, डॉक्टर जल्द ठीक होने की उम्मीद जता रहे हैं। यह पहली बार हुआ जब पशुचिकित्सकों ने बिल्लियों का परीक्षण किया। यहां यह भी ध्यान देने योग्य है कि जिन घरों में बिल्लियां पॉजीटिव पायी गई है वहां कोई व्यक्ति कोरोना संक्रमित नहीं मिला। वायरस इस बिल्ली को हल्के बीमार या स्पर्शोन्मुख घरेलू सदस्यों द्वारा या इसके घर के बाहर किसी संक्रमित व्यक्ति के संपर्क के माध्यम से आया हो, ऐसा हो सकता है। वहीं दूसरी बिल्ली के मामले में भी मालिक ने बिल्ली को सांस लेने में तकलीफ की बात बताई थी। हालांकि घर में एक और बिल्ली में बीमारी के कोई लक्षण अभी तक नहीं दिखे हैं। दोनों बिल्लियों ने एक निजी पशु चिकित्सा प्रयोगशाला में SARS-CoV-2 का टेस्ट हुआ। पॉजीटिव आने के बाद सरकार को मामले की सूचना दी गई।

चमगादड़ का मांस खाने वाले आवारा कुत्तों से फैली covid 19 महामारी

बीबीसी से बातचीत में हांगकांग सिटी विश्वविद्यालय के डॉ एंजेल एलमेंड्रोस कहते हैं कि ऐसा एक भी मामला अब तक सामने नहीं आया है, जिससे यह कहा जा सके कि किसी पेट डॉग या कैट से कोरोना संक्रमण इंसान में फैला हो या फिर इंसान संक्रमित हुआ हो। हां, रिसर्च में यह बात सामने आयी है कि बिल्लियों में यह एक बिल्ली से दूसरी बिल्ली में फैल सकता है। इसलिए बेेहतर होगा कि बिल्लियों को घर की चारदीवारी के अंदर रखें। हालांकि बहुत से विशेषज्ञ बिल्लियों को घर में रखने की सलाह उस स्थिति में देते हैं जब उस घर में किसी व्यक्ति में कोरोना के लक्षण दिखाई दें। डॉक्टर कहते हैं कि पेट ओनर को हाथों को अच्छी तरह से धोने की प्रैक्टिस अपनानी चाहिए। किसी भी जानवर के फ़र में वायरस तब आ सकता है जब वह इस वायरस से संक्रमित किसी शख़्स के संपर्क में आ जाए।
एक रिसर्च पेपर में डॉक्टर एंजेल एलमेंड्रोस लिखती हैं कि हांगकांग में एक 17 साल का पेट डॉग कोविड-19 से संक्रमित पाया गया. लेकिन, यह पता चला कि उसे उसके मालिक से यह संक्रमण हुआ था। लेकिन इस तरह के मामलों के सामने आने के बावजूद जानवर बीमार नहीं हो रहे हैं। वह कहते हैं, “2003 में हांगकांग में फैले सार्स-कोव में भी कई पालतू जानवर इसकी चपेट में आ गए थे, लेकिन वे बीमार नहीं हुए। इस बात के कोई प्रमाण नहीं हैं कि कुत्ते या बिल्लियां बीमार हो सकते हैं या लोगों को संक्रमित कर सकते हैं।

HIV खोजने वाले वैज्ञानिक ने क्यों कहा, भारतीय रिसर्चरों पर शोध के निष्कर्ष वापस लेने का दबाव बनाया गया COVID-19

जानवर कैसे संक्रमित हो गए
अभी पुख्ता रूप से कुछ कहना जल्दीबाजी होगी लेकिन प्रारंभिक जांच के बाद विशेषज्ञ यह कह रहे हैं बिल्लियां रेस्पिरेटरी बूंदों से संक्रमित होने को लेकर संवेदनशील होती हैं। वायरस वाली ये बूंदे लोगों के खांसने, छींकने, उबकाई लेने और सांस बाहर छोड़ने से हवा में फैलती हैं। बेल्जियम में एक ऐसा मामला सामने आया जिसमें अपने मालिक में लक्षण दिखाई देने के बाद एक बिल्ली कोरोना टेस्ट में पॉजिटिव पाई गई। इस मामले के सामने आने के बाद चीन के वैज्ञानिकों ने लैब टेस्ट किए जिनसे पता चला कि संक्रमित बिल्लियों से दूसरी बिल्लियों में भी यह वायरस फैल सकता है। यूके के पीरब्राइट इंस्टीट्यूट के डायरेक्टर प्रोफ़ेसर ब्रायन चार्ल्सटन ने कहा, ‘प्रयोगात्मक साक्ष्यों से यह पता चल रहा है कि बिल्लियां संक्रमित हो सकती हैं, साथ ही न्यूयॉर्क के ब्रॉन्क्स जू में एक टाइगर भी संक्रमित हो गया है.’ यह संस्थान संक्रामक बीमारियों की स्टडी करता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *