महाराष्ट्र, गुजरात के बाद दिल्ली में सबसे ज्यादा कोविड 19 संक्रमण के मामले सामने आए हैं। 29 अप्रैल तक के आंकड़ों पर नजर डालें तो दिल्ली में 3439 मामले सामने आए हैं। इनमें से 1092 लोग ठीक हो चुके हैं जबकि 56 लोगों को अपनी जान गंवाई पड़ी। एक्टिव केस 2291 है। दिल्ली में संक्रमित लोगों के आंकड़ों पर यदि नजर डाले तो जो तस्वीर उभरती है वो परेशान करने वाली है। क्यों कि राजधानी में 66 फीसद से ज्यादा संक्रमितों की उम्र 50 साल से कम है। इसमें युवा बहुत बड़ी संख्या है।


आंकड़ों पर नजर डाले तो हम पाते हैं कि 2303 यानि 66.97 फीसद संक्रमित लोगों की आयु 50 वर्ष से कम है। जबकि 50-59 साल के बीच के 539 मरीज है, जो प्रतिशत में 15.67 होता है। इसी तरह 60 साल से उपर के मरीजों की संख्या 597 यानि 17.36 है। लेकिन वहीं देश के आंकड़ों के आधार पर तैयार एक रिपोर्ट हिंदुस्तान और इंडिया टूडे में प्रकाशित हुई है। इसमें भी कमोबेश यही बताया गया है कि युवाओं की संख्या ज्यादा संक्रमित हो रही है। इसके विपरीत विदेशों में बुजुर्ग इसके ज्यादा चपेेट में आ रहे हैं। भारत में संक्रमित 1,801 लोगों पर किए गए अध्ययन में पाया गया कि 43 फीसदी लोग 20 से 39 साल के बीच हैं। 17 फीसदी लोग 40 से 59 साल की उम्र के हैं। यानी भारत में कोरोना वायरस सबसे ज्यादा युवा और कामकाजी आबादी को अपनी चपेट में ले रहा है। 1,801 में से 22 फीसदी मरीजों की उम्र 30 से 39 साल के बीच है। इसके बाद 21 फीसदी की उम्र 20 से 29 साल के बीच है, जबकि 17 फीसदी संक्रमित लोगों की उम्र 40 से 49 साल के बीच है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *